Turpeya Lyrics – Bharat Film | Sukhwinder Singh

Turpeya Lyrics with enjoyable vocals of ‘Sukhwinder Singh’ from the Salman & Katrina’s new movie ‘Bharat’ is one more likable track. This Hindi song “TUR PEYA” also has its lyrics in Hindi drafted by Irshad Kamil with music production well-handled by Abhijit Nalani. Get, Bharat’s Turpeya full song lyrics in English, Hindi below.

TURPEYA hindi lyrics bharat Salman Khan
Album Name:Turpeya (Hindi)
ArtistSukhwinder Singh
SongwriterIrshad Kamil
Music DirectorAbhijit Nalani
Album Name:Bharat (2019)
LabelSuper Cassettes Industries Private Limited

BHARAT – TURPEYA HINDI LYRICS | SALMAN

Chaar paise kamaawan layi,
Main aaya ghar se door,
Ghar se door main aaya,
Lekin ghar na mujhse door,

Dekh mere batuwe wich,
Dil de mere batuwe wich,
Ab bhi ghar da photo,
Seena cheer ke check kar lena,
Doubt je koyi ho toh,

Ke main tur peya, main tur peya
Main tur peya ghar se door
Ke main turpeya, main tur peya
Par jana laut zarur.

Ke main tur peya, main tur peya
Main tur peya ghar se door
Ke main turpeya, main tur peya
Par jana laut zarur.

Sab mil gaya, par na mila
Ghar jaisa koyi suroor
Main tur peya, main tur peya
Par jana laut zaroor.

Instrumental break!

Ho raaz ki befikri,
Pardeson mein nahi,
Baat jab jhappi wali,
Sundeshon mein nahi,

Fursaton bhara samaa,
Milta hai yahan,
Rishton mein garmahat aisi,
Lagti yaha kahan.

Haye char paisa bachawan layi
Main turpeya ho main turpeya
Haye ghar pe khushi leyavan layi
Main turpeya haye main turpeya

Maine yahan pe aake jaana
Thaane jaisa mulk begana
Qismat wala hai jo peeche
Murh gaya murh gaya murh gaya.

Main turpeya, main turpeya,
Main turpeya ghar se door,

Ke main turpeya, main turpeya
Par jaana laut zaroor,

Ke main turpeya, main turpeya
Main turpeya ghar se door
Ke main turpeya, main turpeya
Par jana laut zaroor.

Ho dhoop kheton ki woh
Yadon mein hai abhi
Ek ladki jaisi
Lagti thi woh kabhi,

Garmiyan nigah mein meethi si adaa,
Ab bhi apna dil uspe pehle jaisa fidaa,
Hoye yaar usko payaavan layi,

Main tur peya, main tur peya,
Usko paas bulawan layi,
Main tur peya, main tur peya,

Dekhe jalwe masi tere,
Par wo dil mein basti mere,
Yaad mein jiske ye dil yoon hi,
Bhar gaya, bhar gay, bhar gaya.

Main turpeya, main turpeya,
Main turpeya ghar se door,
Ke main turpeya, main turpeya,
Par jaana laut zaroor (x2).

चार पैसे कामवन लई
मैं आया घर से दूर,

घर से दूर मैं आया लेकिन
घर ना मुझसे दूर,

के इक मेरे बटुवे विच
दिल दे मेरे बटुवे विच
अब भी घर दा फोटो,

सीना चीयर के चेक कर लेना
डाउट जे कोई हो तोह,

के मैं टुर पेया, टुर पेया,
मैं टुर पेया घर से दूर,
के मैं टुर पेया, मैं टुर पेया, पर जाना लौट ज़रूर,

के मैं टुर पेया, टुर पेया,
मैं टुर पेया घर से दूर,
के मैं टुर पेया, मैं टुर पेया,
पर जाना लौट ज़रूर ।

सब मिल गया पर नहीं मिला
घर जैसा कोई सरूर,

के मैं टुर पेया, मैं टुर पेया,
पर जाना लौट ज़रूर ।

हो राज़ की बेफिक्री
परदेसों में नहीं
बीत जब झप्पी वाली
संदेशों में नहीं,

फुर्सतों भरा समा
मिलता हैं यहां,
रिश्तों में गर्माहट ऐसी
लगती यहाँ कहाँ

चार पैसे बचवन लई
मैं टुर पेया, हो मैं टुर पेया
होये घर पे ख़ुशी लयवान लई
मैं टुर पेया, हाय मैं टुर पेया

मैंने यहाँ पे आके जाना
थाने जैसा मुल्क बेगाना
किस्मत वाला है जो पीछे मुड़ गया
मुड़ गया, मुड़ गया,

मैं टुर पेया, मैं टुर पेया,
मैं टुर पेया घर से दूर,

के मैं टुर पेया, टुर पेया,
मैं टुर पेया घर से दूर,
के मैं टुर पेया, मैं टुर पेया,
पर जाना लौट ज़रूर ।

ये धुप खेतों की वो,
यादों में है अभी
एक लड़की जैसी लगती थी वो कभी,

गर्मियां निगाह में मीठी सी अदा,
अब भी है अपना दिल उसपे
पहले जैसे फ़िदा,

होये, यार उसको पयावन लई मैं टुर पया
मैं टुर पया,
उसको पास बलवान लई, मैं टुर पया
हो मैं टुर पया,

देखे जलवे मस्ती तेरे
पर वो दिल में बस्ती मेरे
याद में जिसकी ये दिल युहीं
भर गया, भर गया, भर गया ।

मैं टुर पेया, टुर पेया,
मैं टुर पेया घर से दूर,
के मैं टुर पेया, मैं टुर पेया,
पर जाना लौट ज़रूर ।

के मैं टुर पेया, टुर पेया,
मैं टुर पेया घर से दूर,
के मैं टुर पेया, मैं टुर पेया,
पर जाना लौट ज़रूर ।